मकान मालकिन की गुस्सैल बेटी को रगड़ के चोद दिया

नमस्कार मैं नितिन आपका इस चैंनल पर स्वागत करता हूँ
मैं 19 साल का एक हठा कठा लड़का हूं मेरी हाइट 5 फ़ीट 4 इंच है।यह मेरी पहली कहानी रही है इसीलिए मेरी गलतियो को माफ करना। आपको ज्यादा बोर न करते हुए हम आते है आज की अपनी कहानी पर,

यह बात तब की है जब मैं 12वी की परीक्षा की तैयारी के लिए पटना आया था । मकान मालिक और मालकिन को चाचा-चाची बुलाता था। वे और उनका परिवार ग्राउंड फ्लोर पर रहते थे। उनके 3 बेटे और एक बेटी है।परिवार जैसा माहौल था।सबकुछ ठीक चल रहा था
एक दिन हमारे बीच मतभेद आ गयी जिसके बाद मैं उससे बदला लेने की सोचने लगा, तब मेरा ध्यान उसकी बेटी पर गया
उसका नाम प्रीति(बदला हुआ नाम) है वह 21 वर्षीय भरी-पूरी लड़की है हाइट तकरीबन 4 फिट 10 इंच होगी और फिगर 36 28 34 की है।मैंने उसके जरिये बदल लेने की सोची। मैं उसे चोदने की ख्वाहिश रखने लगा कि कब साली हाथ में आती है।
मैं इसे फंसाने के लिए चारे की तलाश में था। वह कम्प्यूटर क्लास क्लास करने अपनी छोटी सी साइकल से जाती थी उसे आते जाते मैं छत की बालकनी से तो कभी रास्ते मे देखता था तो वो हमेशा किसी से फ़ोन पर बात करते हुए मिलती थी और शाम को छत पर जाके बात करने लगती थी। अब यह शराफत वाली आदत तो है नही मुझे यहां दाल में कुछ काला लगने लगा।
एक दिन मैंने उसे छत पर उसे जाते हुए देखा मैं भी चुपके से उसके पीछे चला गया तो मैने देखा छत वाले फ्लैट जो कि मकान मालकिन ने गेस्ट लोगो के लिए खाली रखी थी उसमें चली गयी मुझे शक हुआ मैं भी उसके पीछे पीछे गया तो वह फ्लैट के बाथरूम मैं चली गयी और दरवाजे को बंद कर दिया अब वह बाथरुम मैं क्या कर रही थी मुझे कुछ दिख ही नही रहा था तब मैंने देखा कि दरवाजे के एक हिस्से को दीमक लगने के कारण छोटा सा छेद हो गया है मैं कुछ सोचता उससे पहले उसकी कुछ आवाज़ आने लगी मैन उस छेद में देखा तो पता चला कि वो किसी लड़की के साथ वीडियो कॉल पर गन्दी बातें कर रही है और अपनी चूत में खुरदरे तौलिये को आगे पीछे कर रही थी
तब ही मेरे दिमाग मे एक खुराफाती आईडिया आया, मैने अपना मोबाइल निकालकर उसके मुख्य लेंस को दीमक वाले छेद के पास लगा दिया और रिकॉर्डिंग चालू कर दी।
रिकॉर्डिंग चालू थी, जिसमे कभी वो चूत में उंगली करती कभी अपने बूब्स दबाती तो कभी गांड में उंगली करती इधर मेरा नागराज ये सब देख फनफना रहा था। कुल 17 मिनट की वीडियो बनी। कुछ देर बाद वो अपने कपड़े सही कर के चली गयी। मैं वही एक कोने में छुप गया था।
अब मैं मौके की तलाश में था। तीन भाइयों में एकलौती बहन होने के कारण वह काफी अकड़ू और गुस्सैल किस्म की रही है, लेकिन मुझे इससे क्या, मुझे तो उसकी कमजोरी हाथ लग गयी थी। अब मैं अक्सर छत पर रहने लगा वो जब भी आती मैं उसे कही भी हाथ लगा देता कभी गांड पर कभी कहि, कुछ दिन तो उसने इग्नोर किया।
लेकिन बाद में मुझे धमकाने लगी कि मैं अपने बाप भाई को बोल दूंगी। मैं डर गया। मैं अब मौके की तलाश में रहता। और वह मौका भी जल्द आ गया।
उसके दादाजी जो गांव में रहते थे उन्हें लकवा मार गया जिसे देखने उसके मा बाप गांव चले गए और भाई लोग भी शादी में गए थे घर मे सिर्फ वो अपनी बड़ी भाभी के साथ थी। इस बात की जानकारी मुझे सुबह ही हो गयी थी।
शाम को मैं छत पे गया वो छत पर ही एक कोने में फ़ोन पर बात कर रही थी मैं चुपके से गया और उसके बगल में खड़ा होकर एक हाथ से उसकी गांड दबा दी वो घबराकर पलटी और बोली साले तुमको एक बार मे समझ नही आता रुको मैं पापा को कॉल करती हूँ।
वो अपने बाप को कॉल करने लगी तो मैने उसके हाथ से फोन छीन कर उसे बेड पर गिर दिया और मैन गेट को बंद कर दिया वो उठने ही वाली थी कि मैंने अपने दोनों घुटनों को उसके हथेलियों पर रखा जिससे मेरा नागराज पेंट के अंदर ही उसके मुंह मे जाने को आतुर हो रहा था, तब ही वो बोली की मैं चिल्ला दूंगी उसके चिल्लाने से पहले ही मैन अपने लौड़े को उसके मुंह मे दाल दिया मेरे सात इंच लम्बे और 3 मोटे चौड़े लन्ड के मुँह में जाते ही उसे चिल्लाना तो दूर सास लेने के लिए भी इतनी तेज छटपटा रही है की काफी मेहनत लगी थी उसे पकड़ के रखने में ।
तभी मैने अपना फोन निकाल कर उसकी नंगी रेकॉर्डिंग चला दी तब जाके वो शांत हुई और रोने लगी। कुछ देर बाद शांत होकर पूछने लगी कि तुम चाहते क्या हो तो मैंने कहा तुम्हे अपनी कुतिया बनाना और मैं जब कहूँ तुम्हे आना पड़ेगा। कुछ देर सोचने के बाद जाके वो राजी हुईं।
मैंने उसे मेरे कपड़े खोलने को कहा और मैं उसके कपड़े उतारने लगा । कुछ देर बाद मैं सिर्फ अंडरवियर और वो ब्रा और पेंटी में थी। मेरे कहने पर जैसे ही वो अंदर वियर उतारते ही मेरा टनटनाया हुआ लौड़ा फटाक से उसके होठो को चुम लेता है। मैंने उसे लन्ड को चूसने के लिए कहा वो मन करने लगी मैंने उसके बालो को पकड़कर अपना लौडा मुह में घुसा दिया और मुँह चोदने लगा कुछ देर लगातार मुख चोदने के बाद मैंने अपना वीर्य उसके ही मुँह में निकल दिया मुझे लगा कि वह सब उगल देगी तो मैंने उसके मुँह में फिर लन्ड घुसा दिया और बाल को पकड़े हुए रखा जब तक वो उसे पी नही गयी। कुछ देर बाद मैंने ब्रा खोलकर उसके फुटबॉल को आजाद कर दिया और उसे एक को दबाने और दूसरे को चूसने लगा। ये सब मैं तेजी से कर रहा था,जिसके कारण वह काफी तेज सिसकारियां ले रही थी। इतने में उसके मोबाइल की घण्टी बजी, देखा कि उसकी भाभी का कॉल आ रहा था। फोन काटकर वो कहती है कि भाभी को पीरियड आ रहे है मुझे जाना होगा। मैंने पूछा ठीक है जाओ लेकिन कितने देर में आ रही हो तो उसने कहा भाभी को खिला कर सुला देती हूँ उसके बाद आती हूं।
वह उठी कपड़े पहने और अपना मोबाइल लेकर चलने लगी
तो मैंने उससे उसका मोबाइल ले लिया वो मना करने लगी लेकिन बेबस थी, भरे मन से उसने लॉक खोला और फोन दे दिया और चली गयी। वो तो चली गयी और मैं नँगा ही था,फिर मैं उसके फोन के फोटोज देखने लगा तो पाया कि दो अन्य लड़कियों के साथ उसका वो नंगी किश करते कई फ़ोटो थी तब जाके मुझे पता चला कि ये मोटी तो लेस्बियन है मैंने जल्दी से वो फ़ोटो और उनके नम्बर अपने फ़ोन में सेव किया। ये तीनो लेस्बियन काफी सेक्सी थी जिसे देखकर मेरा लन्ड फिर खड़ा हो गया तब मैने बाथरूम जाकर मुठ मारी।
मुठ मारकर बिस्तर पर नंगा ही लेट गया और कब नींद आ गयी पता ही नही चला। अचानक आवाज़ होती है और मेरी नींद खुल जाती है और देखता हूं कि प्रीति आके मेरे सामने खड़ी है वो ब्लैक कलर की नाइटी में कहर ढा रही थी जिसे देखते ही मेरा लन्ड फिरसे सलामी देने लगा।
मैं उसे देखते ही उसके होठ चुसने लगा उसने अभी ब्रा नही पहनी थी जिसके कारण उसके बूब्स नाइटी के ऊपर से दिख रहा था ।उसके होठो को चूसने के साथ ही उसके बूब्स को भी नाइटी के ऊपर से ही दबाने लगा जिससे वह फिर गर्म होने लगी फिर उसने नाइटी निकाली और मैं बिस्तर पर लेट गया वो अपने बूब्स को मेरे पूरे शरीर पर रगड़ने लगी कुछ देर बाद मैंने उसे पलट दिया अब मैं उसके ऊपर वो मेरे नीचें मैने अपने लंड को उसके दोनों बूब्स के बीच रखकर उसके बूब्स को चोदने लगा और उसके कड़क भूरे निप्पल्स को चुटकियों से दबाने लगा जिससे उसकी सिसकारियां काफी तेजी से बढ़ती जा रही थी कुछ देर बाद जैसे लगा कि अब मेरा होने वाला हैमैने पूरा वीर्य उसके मूह में गिरा दिया और वो पूरा गटक गयी। उसके बूब्स की दरारे काफी लाल हो गयी थी मेरे लौड़े के मिलन के कारण।
वो कहने लगी कि अब हो गया वीडियो डिलीट करो, मैंने कहा रुक मेरी जान अभी तो ठीक से शुरू भी नही हुआ है ।
जब मैने उसके शरीर को गौर से देखा तो कम हाइट और गोरा और भरा बदन होने के कारण बिना कपड़ों के कयामत लग रही थी। मैं और मेरा लन्ड फिर उठ चुका था मैं अब उसके पास जाकर अपना लन्ड चुट के दाने पर रगड़ने लगा, भाई उस वक्त उसकी लन्ड के लिए तड़पन देख किसी को भी दया आ जाये लेकिन मुझे दया नही आई मैं अपने लन्ड को उसके चूत के मुंह पर रगड़ता रहा
कुछ देर में वो बिना पानी के मछली की तरह छटपटाने लगी लेकिन मेरी जकड़न इतनी मजबूत थी कि जिससे निकल पाना काफी मुश्किल था। हम कुछ भी बात नही कर रहे थे बस शीत युद्ध सा चल रहा था हमारे बीच। करीब 5 मिनट बाद मैंने एकाएक अपना लन्ड उसकी चूत में घुसेड़ दिया अचानक हुए उस वार से वो दहल गयी और काफी जोर से चिल्लाने लगी लेकिन खिड़की दरवाजे सब बन्द होने के कारण बाहर नही जा रही थी वो मुझसे अपना लन्ड बाहर निकालने की मिन्नते मांग रही थी उस गुस्सैल लड़की को मिन्नते मांगते देख मुझे अच्छा लग रहा था मैंने उसके चिल्लाने की परवाह नही की और अपनी चुदाई उसी स्पीड में जारी रखी। उसके आंसू से उसके आंख पूरे लाल हो गया। 12 मिनट की धकापेल चुदाई के बाद मैं जब झरने को आया तो मैंने सावधानी बरतते हुए अपना लन्ड निकाला जो कि खून से काफी लाल हो गया था उसे उसके चेहरे पर सारा वीर्य गिरा दिया।उसके बाद वो पूरा निढाल हो गयी थी, लेकिन मैं कहा रुकने वाला था मैं लन्ड को उसके बूब्स से रगड़ने लगा जिससे वह कुछ ही देर में जग गया।
उसके मना करने के बाबजुद मैन लन्ड उसके मुंह मे घूसा दिया और उसके मुंह को जोर जोर से चोदने लगा लेकिन वो कुछ ही देर में वो उल्टियां करने लगी मुझे डर हुआ इसीलिए मैंने लन्ड मुह से निकालकर चूत में घुस दिया अबकी बार उसे अपनी चुत में मेरा लन्ड लेने में कोई दिक्कत नही हुई और वो भी मजे लेने लगी ऐसे ही हमने 3 राउंड सेक्स किया अब रात के बारह बज चुके थे वो भी निढाल होकर लेट गयी थी और मैं भी। आधे घण्टे बाद वो उठ के जाने को हुई तो मैंने रोक की कहा?
वो बोली अब तो तेरा भी हो गया न अब क्यों रोक रहा है तो बोला कि गांड को क्यों बचाके लिए जा रही है इतना सुनते ही वो गालियां बकने लगी। मैने कहा देखले फिर वीडियो अभी मेरे पास ही है और तू सोच ले कि मै क्या क्या कर सकता हूँ
तो वो आके बैठ गयी मैने उसके पास जाकर कहा अपने सोये हुए राजकुमार को खुद ही जगा, इतना सुनते ही वह लन्ड को लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी मैं फिर एक बार जन्नत में चल गया कुछ ही देर बाद मेरा लन्ड फिर जग गया तब मेरे कहने पर वो बिस्तर की तरफ झुक गयी मैन गांड के पास अपने लन्ड ले जाके जोर का झटका मारा गांड टाइट होने की वजह से मेरा लन्ड अंदर घुस ही नही पाया लगतार तीसरे शॉट में लन्ड अंदर गया इसबार मैं धीरे धीरे कर रहा था क्योंकि टाइट गांड की बजह से मेरा लन्ड भी कराह रहा था लेकिन धीरे धीरे उसे मजा आने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगी मैंने भी अपनी स्पीड तेज कर दी करीब 5 मिंट बाद मैं झड़ गया।
उसके बाद उसे कपड़े पहनने को कहा अब वो भी मुझसे बात करने लगी कि विद्रोही मेरे 3 बॉयफ्रेंड थे जिन्होंने मुझे चीट किया और तभी से मेरा भरोसा लड़को से उठकर लड़कियों की तरफ होने लगा और मैं लेस्बियन बन गयी थैंक यू मुझे इस सुख का अहसास दिलाने के लिए । मैने झूठ ही पूछ दिया मैं यह वीडियो डीलीट कर दु तो वह बोली मुझे इससे अब कोई फर्क नही पड़ता मैं अब तुम्हारी हो गयी तुम्हारी रखैल बन गयी हूं मुझे जब मन करे बुला लेना मैं हमेशा तैयार रहूंगी। उसके बाद मैंने लम्बी किसिंग की और उसके बाद चलने के लिए उठे लेकिन उसे चलने में काफी दिक्कत आ गयी थी तो मैंने उसे अपने गोद में उठाकर उसे सीढियो से नीचे उतारा चूंकि घर पर कोई नही था और उसकी भाभी सो रही थी तो उसने वही पर दो मिनट तक लिप् किसिंग किया फिर हम अपने अपने कमरो में चले गए।
किसी भी भाभी आंटी की मचलती जवानी बुझाने के लिए सम्पर्क करें nitinsah412@gmail.com पर
धन्यवाद दोस्तो मेरी कहानी पढ़ने के लिए। मैं अपनी अगली सेक्स कहानी जिसमें मैंने उसके दो लेस्बियन
सहेलियों और उसकी कमसिन भाभी को कैसे चोदा, जल्द लिखूंगा। आप अपने विचार भेजने के लिए मुझे
Nitinsah412@gmail.com पर मेल करे।
धन्यवाद।
नितिन

कामुक कहानियाँ  पायल की चूत का आनंद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *